Naxals Attack Ied Blast: Three soldiers martyred after blasting a landmine in Narayanpur district | छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने नारायणपुर जिले में बारूदी सुरंग में IED ब्लास्ट कर उड़ाई बस, 4 जवान शहीद और 14 जख्मी – NOFAA

Naxals Attack Ied Blast: Three soldiers martyred after blasting a landmine in Narayanpur district | छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने नारायणपुर जिले में बारूदी सुरंग में IED ब्लास्ट कर उड़ाई बस, 4 जवान शहीद और 14 जख्मी

[ad_1]

डिजिटल डेस्क, रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में मंगलवार को नक्सली हमले की खबर आई है। नक्सलियों ने जवानों से भरी सुरक्षाबलों की बस को बारूदी सुरंग में IED से विस्फोट कर उड़ा दिया है। घटना में 4 जवान शहीद हो गए, जबकि अन्य 14 जवान घायल हैं। सूचना मिलते ही बैकअप फोर्स को मौके पर रवाना कर दिया गया है।

जिला रिजर्व गार्ड (DRG) के जवान एक ऑपरेशन से वापस लौट रहे थे तभी उनके वाहन को नक्सलियों ने निशाना बनाया। डीजीपी डीएम अवस्थी ने बताया कि DRG के तीन जवान शहीद हुए हैं और करीब 20 जवान घायल हैं। बताया जा रहा है कि लगातार 3 IED ब्लास्ट हुए हैं। उन्होंने बताया कि घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों की बस पर हमला किया है।

बस्तर के IG पी.सुंदरराज ने बताया कि नारायणपुर में नक्सल विरोधी अभियान के बाद DRG फोर्स वापस लौट रही थी। बस में 24 डीआरजी के जवान सवार थे। सभी DRG के जवान बस में सवार होकर धौड़ाई थाना क्षेत्र के कडेनार से मंदोड़ा जा रहे थे। तभी घात लगाए बैठे नक्सलियों ने बस पर IED ब्लास्ट कर दिया। घटना में 02 जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं और 12 जवानों को सामान्य चोट लगने की जानकारी मिली है। घायल जवानों को वायुसेना के हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा जा रहा है।

नक्सलियों ने 6 दिन पहले भेजा था शांति वार्ता का प्रस्ताव
नक्सलियों ने 17 मार्च को शांति वार्ता का प्रस्ताव सरकार के सामने रखा था। नक्सलियों ने विज्ञप्ति जारी कर कहा था कि वे जनता की भलाई के लिए छत्तीसगढ़ सरकार से बातचीत के लिए तैयार हैं। उन्होंने बातचीत के लिए तीन शर्तें भी रखीं थीं। इनमें सशस्त्र बलों को हटाने, माओवादी संगठनों पर लगे प्रतिबंध हटाने और जेल में बंद उनके नेताओं की बिना शर्त रिहाई शामिल थीं।

छत्तीसगढ़ में तीन साल में 970 नक्सली घटनाएं, इनमें 113 जवान शहीद
बता दें कि 2 फरवरी 2021 को लोकसभा में नक्सली घटनाओं को लेकर सरकार से जानकारी मांगी गई थी। गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने इसका जवाब दिया था। उनके मुताबिक देश के नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सली घटनाओं में कमी आ रही है। गृह मंत्रालय के मुताबिक, 2018 में देशभर में 833 नक्सली घटनाएं दर्ज हुई थीं, जो 2019 में घटकर 670 और 2020 में घटकर 665 हो गई। 

हालांकि, छत्तीसगढ़ में 2019 की तुलना में 2020 में नक्सली घटनाएं बढ़ी हैं। लोकसभा में दिए जवाब में सरकार ने बताया कि छत्तीसगढ़ में 2018 से लेकर 2020 तक तीन सालों में 970 नक्सली घटनाएं हुई थीं, जिनमें सुरक्षाबलों के 113 जवान शहीद हुए थे। वहीं, 2019 में छत्तीसगढ़ में 263 नक्सली घटनाएं दर्ज हुई थीं, जो 2020 में करीब 20% बढ़कर 315 हो गईं। जबकि, 2019 में नक्सली हमलों में छत्तीसगढ़ में 22 जवान शहीद हुए थे और 2020 में 36 जवानों की जान गई।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment