Attempt To Provoke Employee By Sending Letter To An American Company – अमेरिकी कंपरी में पत्र भेजकर कर्मियों को भड़काने का प्रयास – NOFAA

Attempt To Provoke Employee By Sending Letter To An American Company – अमेरिकी कंपरी में पत्र भेजकर कर्मियों को भड़काने का प्रयास

ख़बर सुनें

ग्रेटर नोएडा। ईकोटेक-3 औद्योगिक क्षेत्र स्थित यूएसए की दाना कंपनी में पत्र भेजकर कर्मचारियों को भड़काने का प्रयास किया गया है। इस मामले में कंपनी की ओर से पूर्व जीएम एचआर दीपक साहू के खिलाफ ईकोटेक-3 कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई गई है। वहीं कंपनी के एक कर्मचारी ने दीपक साहू पर मारपीट का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है। इस कंपनी में तीन सितंबर 2008 को (उस दौरान ग्रेजियानो) आक्रोशित कर्मचारियों के प्रदर्शन के दौरान तत्कालीन सीईओ ललित चौधरी की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। वहीं पिछले साल भी कंपनी को घृणित ई मेल भेजा गया था। अब डाक द्वारा कुछ महिला और पुरुष अधिकारियों के नाम लिखकर पत्र भेजे गए हैं।
औद्योगिक क्षेत्र स्थित ग्रेजियानो कंपनी का मालिकाना हक वर्तमान में यूएसए की दाना कंपनी के पास है। कंपनी के जीएम एचआर एंड एडमिन पुरुषोत्तम कुमार जांगिड़ का कहना है कि उनकी कंपनी ने भारत में कई स्थानों पर अरबों रुपये का निवेश किया है। कंपनी ने पूर्व जीएम दीपक साहू से विभिन्न शिकायतों के चलते त्याग पत्र ले लिया था। दीपक साहू की तैनाती के दौरान कंपनी में बड़ी संख्या में भर्तियां हुई थीं। दीपक साहू को कर्मचारियों में विद्वेष पैदा नहीं करने की शर्त पर त्याग पत्र के बावजूद वेतन दिया गया था। इसके बावजूद मई 2020 में अनूप सिन्हा के नाम से घृणित ई-मेल भेजे थे। 31 मई 2020 को पुलिस ने आईटी एक्ट के अंतर्गत केस कर दीपक पर शांति भंग की कार्रवाई की और छह माह तक मुचलका पाबंद किया था। अब एक बार फिर दस कर्मचारियों के नाम से पत्र भेजे गए हैं। पत्रों में कंपनी के कुछ अधिकारियों पर रिश्वतखोरी, विलासिता के आरोप लगाए गए हैं वहीं कर्मचारियों को पर्याप्त वेतन व सुविधाएं नहीं देने की बात लिखी है। कंपनी ने पत्र की भाषा आदि के आधार पर दीपक साहू पर ही पत्र भेजने का आरोप लगाया है। शिकायत में यह भी बताया गया है कि कंपनी में वैमनस्य फैलने से 2008 में सीईओ की हत्या की गई थी और 50 लोग घायल हुए थे।
काम न छोड़ने पर कर्मचारी को पीटा
दाना कंपनी के कर्मचारी राशिद मलिक ने भी दीपक साहू के खिलाफ एक अन्य केस दर्ज कराया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि दीपक साहू ने कंपनी के पास ही उससे यह कहकर मारपीट की कि वह वहां से काम क्यों नहीं छोड़ रहा। पुलिस का कहना है कि दोनों मामलों में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

ग्रेटर नोएडा। ईकोटेक-3 औद्योगिक क्षेत्र स्थित यूएसए की दाना कंपनी में पत्र भेजकर कर्मचारियों को भड़काने का प्रयास किया गया है। इस मामले में कंपनी की ओर से पूर्व जीएम एचआर दीपक साहू के खिलाफ ईकोटेक-3 कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई गई है। वहीं कंपनी के एक कर्मचारी ने दीपक साहू पर मारपीट का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है। इस कंपनी में तीन सितंबर 2008 को (उस दौरान ग्रेजियानो) आक्रोशित कर्मचारियों के प्रदर्शन के दौरान तत्कालीन सीईओ ललित चौधरी की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। वहीं पिछले साल भी कंपनी को घृणित ई मेल भेजा गया था। अब डाक द्वारा कुछ महिला और पुरुष अधिकारियों के नाम लिखकर पत्र भेजे गए हैं।

औद्योगिक क्षेत्र स्थित ग्रेजियानो कंपनी का मालिकाना हक वर्तमान में यूएसए की दाना कंपनी के पास है। कंपनी के जीएम एचआर एंड एडमिन पुरुषोत्तम कुमार जांगिड़ का कहना है कि उनकी कंपनी ने भारत में कई स्थानों पर अरबों रुपये का निवेश किया है। कंपनी ने पूर्व जीएम दीपक साहू से विभिन्न शिकायतों के चलते त्याग पत्र ले लिया था। दीपक साहू की तैनाती के दौरान कंपनी में बड़ी संख्या में भर्तियां हुई थीं। दीपक साहू को कर्मचारियों में विद्वेष पैदा नहीं करने की शर्त पर त्याग पत्र के बावजूद वेतन दिया गया था। इसके बावजूद मई 2020 में अनूप सिन्हा के नाम से घृणित ई-मेल भेजे थे। 31 मई 2020 को पुलिस ने आईटी एक्ट के अंतर्गत केस कर दीपक पर शांति भंग की कार्रवाई की और छह माह तक मुचलका पाबंद किया था। अब एक बार फिर दस कर्मचारियों के नाम से पत्र भेजे गए हैं। पत्रों में कंपनी के कुछ अधिकारियों पर रिश्वतखोरी, विलासिता के आरोप लगाए गए हैं वहीं कर्मचारियों को पर्याप्त वेतन व सुविधाएं नहीं देने की बात लिखी है। कंपनी ने पत्र की भाषा आदि के आधार पर दीपक साहू पर ही पत्र भेजने का आरोप लगाया है। शिकायत में यह भी बताया गया है कि कंपनी में वैमनस्य फैलने से 2008 में सीईओ की हत्या की गई थी और 50 लोग घायल हुए थे।

काम न छोड़ने पर कर्मचारी को पीटा

दाना कंपनी के कर्मचारी राशिद मलिक ने भी दीपक साहू के खिलाफ एक अन्य केस दर्ज कराया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि दीपक साहू ने कंपनी के पास ही उससे यह कहकर मारपीट की कि वह वहां से काम क्यों नहीं छोड़ रहा। पुलिस का कहना है कि दोनों मामलों में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।


Source link

Leave a Comment