Elderly Woman Stuck In Lift With Son For 20 Minutes – बुजुर्ग महिला बेटे संग 20 मिनट तक लिफ्ट में फंसी रही – NOFAA

Elderly Woman Stuck In Lift With Son For 20 Minutes – बुजुर्ग महिला बेटे संग 20 मिनट तक लिफ्ट में फंसी रही

[ad_1]

सेक्टर-74 स्थित सुपरटेक केपटाउन के इसी लिफ्ट में 20 मिनट तक फसी रही बुजुर्ग महिला

नोएडा। सेक्टर-74 स्थित सुपरटेक केपटाउन सोसाइटी में सीएमसी-एक टावर पर लगी सर्विस लिफ्ट आए दिन खराब रहती है। इस लिफ्ट में एक-दो बार लोग सप्ताह में फंस ही जाते हैं। रविवार को भी एक बुजुर्ग महिला बेटे समेत 20 मिनट तक लिफ्ट में फंसी रहीं, काफी मशक्कत के बाद उन्हें लिफ्ट से निकाला गया।
मां के साथ लिफ्ट में फंसे तरुण अग्रवाल ने बताया कि टावर में दो लिफ्ट लगी हैं। एक लिफ्ट लोगों के लिए और दूसरी सर्विस लिफ्ट है। दोनों लिफ्ट स्वचालित हैं। उपयोग के दौरान बटन दबाने पर कई बार खाली होने पर सर्विस लिफ्ट आ जाती है। इसी तरह रविवार को सुबह 11:30 बजे जब उन्होंने मां लक्ष्मी अग्रवाल के साथ लिफ्ट से नीचे आने के लिए बटन दबाया तोे सर्विस लिफ्ट आ गई। यह लिफ्ट भूतल और प्रथम तल के बीच अचानक रुक गई।
तरुण ने बताया कि एकाएक लिफ्ट बंद होने पर उनकी मां घबरा गईं, मगर उन्होंने मां को संभालते हुए सायरन बजा दिया। इसके बाद गार्ड आ गए और उन्होंने लिफ्ट खोली। लिफ्ट भूतल और प्रथम तल के बीच होने के कारण टेबल लगाकर उनकी मां व उन्हें बाहर निकाला गया। उन्होंने बताया कि इससे पहले भी वह दो बार इसी लिफ्ट में फंस चुके हैं। उधर, एओए के अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बताया कि सोसाइटी में अक्तूबर माह से कई लिफ्टों में खराबी आई हुई है। इस संबंध में बिल्डर से कई बार शिकायत की जा चुकी है, मगर वह ध्यान ही नहीं देते। मामले में पुलिस को भी शिकायत की जा चुकी है। इससे पूर्व सोसाइटी की लिफ्ट में बुजुर्ग रवींद्र, प्रदीप अग्रवाल, संजय गुप्ता, निखिल आदि फंसने के अलावा चोटिल भी हो चुके हैं।

नोएडा। सेक्टर-74 स्थित सुपरटेक केपटाउन सोसाइटी में सीएमसी-एक टावर पर लगी सर्विस लिफ्ट आए दिन खराब रहती है। इस लिफ्ट में एक-दो बार लोग सप्ताह में फंस ही जाते हैं। रविवार को भी एक बुजुर्ग महिला बेटे समेत 20 मिनट तक लिफ्ट में फंसी रहीं, काफी मशक्कत के बाद उन्हें लिफ्ट से निकाला गया।

मां के साथ लिफ्ट में फंसे तरुण अग्रवाल ने बताया कि टावर में दो लिफ्ट लगी हैं। एक लिफ्ट लोगों के लिए और दूसरी सर्विस लिफ्ट है। दोनों लिफ्ट स्वचालित हैं। उपयोग के दौरान बटन दबाने पर कई बार खाली होने पर सर्विस लिफ्ट आ जाती है। इसी तरह रविवार को सुबह 11:30 बजे जब उन्होंने मां लक्ष्मी अग्रवाल के साथ लिफ्ट से नीचे आने के लिए बटन दबाया तोे सर्विस लिफ्ट आ गई। यह लिफ्ट भूतल और प्रथम तल के बीच अचानक रुक गई।

तरुण ने बताया कि एकाएक लिफ्ट बंद होने पर उनकी मां घबरा गईं, मगर उन्होंने मां को संभालते हुए सायरन बजा दिया। इसके बाद गार्ड आ गए और उन्होंने लिफ्ट खोली। लिफ्ट भूतल और प्रथम तल के बीच होने के कारण टेबल लगाकर उनकी मां व उन्हें बाहर निकाला गया। उन्होंने बताया कि इससे पहले भी वह दो बार इसी लिफ्ट में फंस चुके हैं। उधर, एओए के अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बताया कि सोसाइटी में अक्तूबर माह से कई लिफ्टों में खराबी आई हुई है। इस संबंध में बिल्डर से कई बार शिकायत की जा चुकी है, मगर वह ध्यान ही नहीं देते। मामले में पुलिस को भी शिकायत की जा चुकी है। इससे पूर्व सोसाइटी की लिफ्ट में बुजुर्ग रवींद्र, प्रदीप अग्रवाल, संजय गुप्ता, निखिल आदि फंसने के अलावा चोटिल भी हो चुके हैं।

[ad_2]

Source link

Leave a Comment