First Day Of Remand Revealed Fraud Of Ten Crores – रिमांड के पहले दिन दस करोड़ की ठगी का खुलासा – NOFAA

First Day Of Remand Revealed Fraud Of Ten Crores – रिमांड के पहले दिन दस करोड़ की ठगी का खुलासा

[ad_1]

ख़बर सुनें

नोएडा। सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले दो मुख्य आरोपी पंकज खटिक और आदर्श को कमिश्नरेट पुलिस ने शुक्रवार सुबह दस बजे रिमांड पर लिया। एसीपी रजनीश वर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने पांच घंटे तक पूछताछ की। दोनों आरोपियों ने दस करोड़ रुपये तक की ठगी का खुलासा किया है। आरोपियों ने यह भी बताया कि ठगी की ज्यादातर रकम को उन्होंने जुए और सट्टे में लगाया। पुलिस आगे भी दोनों आरोपियों से पूछताछ करेगी और उन्हें सेक्टर-62 स्थित ऑफिस भी लेकर जाएगी।
जनवरी महीने में सेक्टर-62 स्थित आइथम टावर में प्लेसमेंट एजेंसी खोलकर एमबीबीएस दाखिले के नाम पर ठगी का खुलासा हुआ था। इस मामले में अब तक कोतवाली सेक्टर-58 में चार मुकदमे दर्ज हैं। इनमें मुख्य आरोपी पंकज खटिक, आदर्श और सचिन हैं। बीते दिनों पंकज खटिक ने महोबा और आदर्श ने कानपुर कोर्ट में समर्पण किया था। वहां से दोनों को गौतमबुद्ध नगर की लुक्सर जेल में लाया गया था। बृहस्पतिवार को कोर्ट ने दोनों की आठ दिनों की पुलिस रिमांड मंजूर की थी। शुक्रवार को पुलिस की पूछताछ में पता चला कि ठगी करने वाला गिरोह काफी बड़ा है, इसमें कई और लोग शामिल हैं।

नोएडा। सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले दो मुख्य आरोपी पंकज खटिक और आदर्श को कमिश्नरेट पुलिस ने शुक्रवार सुबह दस बजे रिमांड पर लिया। एसीपी रजनीश वर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने पांच घंटे तक पूछताछ की। दोनों आरोपियों ने दस करोड़ रुपये तक की ठगी का खुलासा किया है। आरोपियों ने यह भी बताया कि ठगी की ज्यादातर रकम को उन्होंने जुए और सट्टे में लगाया। पुलिस आगे भी दोनों आरोपियों से पूछताछ करेगी और उन्हें सेक्टर-62 स्थित ऑफिस भी लेकर जाएगी।

जनवरी महीने में सेक्टर-62 स्थित आइथम टावर में प्लेसमेंट एजेंसी खोलकर एमबीबीएस दाखिले के नाम पर ठगी का खुलासा हुआ था। इस मामले में अब तक कोतवाली सेक्टर-58 में चार मुकदमे दर्ज हैं। इनमें मुख्य आरोपी पंकज खटिक, आदर्श और सचिन हैं। बीते दिनों पंकज खटिक ने महोबा और आदर्श ने कानपुर कोर्ट में समर्पण किया था। वहां से दोनों को गौतमबुद्ध नगर की लुक्सर जेल में लाया गया था। बृहस्पतिवार को कोर्ट ने दोनों की आठ दिनों की पुलिस रिमांड मंजूर की थी। शुक्रवार को पुलिस की पूछताछ में पता चला कि ठगी करने वाला गिरोह काफी बड़ा है, इसमें कई और लोग शामिल हैं।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment