Forelane Road – फोरलेन सड़क की मांग ने पकड़ा तूल – NOFAA

Forelane Road – फोरलेन सड़क की मांग ने पकड़ा तूल

[ad_1]

ख़बर सुनें

फिरोजपुर झिरका। राजस्थान सीमा तक फोरलेन सड़क की मांग को लेकर खंड के गांव नगीना में इलाके के युवाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं की बैठक शनिवार को रशीद एडवोकेट की अध्यक्षता में हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि 30 मार्च को लगभग 20 हजार युवा बड़कली से नूंह तक पैदल मार्च निकालकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडक़री के नाम से ज्ञापन उपायुक्त को सौंपेंगे। युवाओं के साथ मार्च में सामाजिक कार्यकर्ता भी शामिल होंगे।
बैठक में कहा गया कि खूनी सड़क नाम से कुख्यात इस मार्ग के सुधार के लिए इसका चार लेन होना जरूरी है। इसके लिए गांव-गांव में बैठकों का दौर जारी है। बैठक में रसीद ने कहा कि आज आए दिन मेवात की सड़कों पर खूनी खेल हो रहा है। किसी न किसी घर का चिराग बुझ रहा है। लोग घर से निकलते हैं और शाम तक नहीं लौटते तो लोग चिंता में डूब जाते हैं। कारण कि सड़कों पर रोज की बात बन चुके हादसे हर किसी को डराते हैं। इलाके में चल रहे ओवरलोड डंपर मौत का पर्याय बन चुके हैं।
उन्होंने कहा कि इस खूनी सड़क को फोरलेन बनवाने के लिए युवाओं को आवाज बुलंद करनी होगी। इस खूनी रोड को फोरलेन बनाने की मांग जिला उपायुक्त के माध्यम से केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और प्रदेश के मुख्यमंत्री तक पहुंचाई जाएगी। 30 मार्च को बड़कली चौक से जिला मुख्यालयों तक प्रस्तावित पैदल मार्च में इलाके के युवाओं को जुटाने के लिए गांव-गांव जनसंपर्क चल रहा है। बैठक में जुनैद खान, मुबारिक अटेरना, बुरहान, समय सिंह, असरुद्दीन उटावड़, आरिफ बघोला आदि मौजूद रहे।
फोटो
फोरलेन की मांग को लेकर आयोजित बैठक में शामिल लोग।

फिरोजपुर झिरका। राजस्थान सीमा तक फोरलेन सड़क की मांग को लेकर खंड के गांव नगीना में इलाके के युवाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं की बैठक शनिवार को रशीद एडवोकेट की अध्यक्षता में हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि 30 मार्च को लगभग 20 हजार युवा बड़कली से नूंह तक पैदल मार्च निकालकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडक़री के नाम से ज्ञापन उपायुक्त को सौंपेंगे। युवाओं के साथ मार्च में सामाजिक कार्यकर्ता भी शामिल होंगे।

बैठक में कहा गया कि खूनी सड़क नाम से कुख्यात इस मार्ग के सुधार के लिए इसका चार लेन होना जरूरी है। इसके लिए गांव-गांव में बैठकों का दौर जारी है। बैठक में रसीद ने कहा कि आज आए दिन मेवात की सड़कों पर खूनी खेल हो रहा है। किसी न किसी घर का चिराग बुझ रहा है। लोग घर से निकलते हैं और शाम तक नहीं लौटते तो लोग चिंता में डूब जाते हैं। कारण कि सड़कों पर रोज की बात बन चुके हादसे हर किसी को डराते हैं। इलाके में चल रहे ओवरलोड डंपर मौत का पर्याय बन चुके हैं।

उन्होंने कहा कि इस खूनी सड़क को फोरलेन बनवाने के लिए युवाओं को आवाज बुलंद करनी होगी। इस खूनी रोड को फोरलेन बनाने की मांग जिला उपायुक्त के माध्यम से केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और प्रदेश के मुख्यमंत्री तक पहुंचाई जाएगी। 30 मार्च को बड़कली चौक से जिला मुख्यालयों तक प्रस्तावित पैदल मार्च में इलाके के युवाओं को जुटाने के लिए गांव-गांव जनसंपर्क चल रहा है। बैठक में जुनैद खान, मुबारिक अटेरना, बुरहान, समय सिंह, असरुद्दीन उटावड़, आरिफ बघोला आदि मौजूद रहे।

फोटो

फोरलेन की मांग को लेकर आयोजित बैठक में शामिल लोग।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment