If No Action Was Taken Against Snoopers Then The Family Stopped Going To The Shop – छींटाकशी करने वालों पर नहीं हुई कार्रवाई तो परिजनों ने दुकान जाना बंद कराया – NOFAA

If No Action Was Taken Against Snoopers Then The Family Stopped Going To The Shop – छींटाकशी करने वालों पर नहीं हुई कार्रवाई तो परिजनों ने दुकान जाना बंद कराया

ख़बर सुनें

ग्रेटर नोएडा। सूरजपुर कस्बे में रहने वाली दो बहनों से छींटाकशी की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस वजह से दोनों बहनों को उनके परिजनों ने दुकान पर नहीं जाने की सलाह दी है। वहीं पीड़िता आरोपियों पर कार्रवाई की मांग कर रही हैं। मामला संज्ञान में आने पर राज्य बाल संरक्षण आयोग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
कस्बे में रहने वाली स्नातक की एक छात्रा ने कुछ दिन पहले पुलिस को शिकायत देकर बताया था कि उसके पिता किराये पर दुकान चलाते हैं। लॉकडाउन के दौरान एक माह का किराया नहीं दे पाने की वजह से मालिक ने दुकान पर ताला लगा दिया था। छात्रा का यह भी आरोप था कि दुकान पर जाने के दौरान मनचले उस पर और नौवीं में पढ़ने वाली छोटी बहन पर छींटाकशी करते हैं। मामला संज्ञान में आने पर डीसीपी वृंदा शुक्ला ने दुकान का ताला खुलवा दिया था, लेकिन छींटाकशी की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। अब छात्रा ने राज्य बाल संरक्षण आयोग में शिकायत की है। छात्रा ने बताया कि आरोपियों पर कार्रवाई नहीं होने से परिजनों ने उनका दुकान पर आना-जाना बंद करा दिया है। छात्रा का कहना है कि पुलिस को आरोपियों पर केस दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए। तभी उनके अलावा कस्बे में रहने वाली अन्य लड़कियों को सुरक्षित माहौल मिलेगा।

ग्रेटर नोएडा। सूरजपुर कस्बे में रहने वाली दो बहनों से छींटाकशी की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस वजह से दोनों बहनों को उनके परिजनों ने दुकान पर नहीं जाने की सलाह दी है। वहीं पीड़िता आरोपियों पर कार्रवाई की मांग कर रही हैं। मामला संज्ञान में आने पर राज्य बाल संरक्षण आयोग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

कस्बे में रहने वाली स्नातक की एक छात्रा ने कुछ दिन पहले पुलिस को शिकायत देकर बताया था कि उसके पिता किराये पर दुकान चलाते हैं। लॉकडाउन के दौरान एक माह का किराया नहीं दे पाने की वजह से मालिक ने दुकान पर ताला लगा दिया था। छात्रा का यह भी आरोप था कि दुकान पर जाने के दौरान मनचले उस पर और नौवीं में पढ़ने वाली छोटी बहन पर छींटाकशी करते हैं। मामला संज्ञान में आने पर डीसीपी वृंदा शुक्ला ने दुकान का ताला खुलवा दिया था, लेकिन छींटाकशी की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। अब छात्रा ने राज्य बाल संरक्षण आयोग में शिकायत की है। छात्रा ने बताया कि आरोपियों पर कार्रवाई नहीं होने से परिजनों ने उनका दुकान पर आना-जाना बंद करा दिया है। छात्रा का कहना है कि पुलिस को आरोपियों पर केस दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए। तभी उनके अलावा कस्बे में रहने वाली अन्य लड़कियों को सुरक्षित माहौल मिलेगा।


Source link

Leave a Comment