Pankaj And Adarsh Are Just Pieces, Someone Else Is The Mastermind – पंकज और आदर्श सिर्फ मोहरे, कोई और है मास्टर माइंड – NOFAA

Pankaj And Adarsh Are Just Pieces, Someone Else Is The Mastermind – पंकज और आदर्श सिर्फ मोहरे, कोई और है मास्टर माइंड

[ad_1]

ख़बर सुनें

नोएडा। सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी के मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों से पूछताछ में कई जानकारियां सामने आ रही हैं। रिमांड के दौरान पूछताछ में पता चला है कि गिरफ्तार पंकज खटिक व आदर्श केवल मोहरे हैं। इस गिरोह का असली मास्टर माइंड कोई और है। पुलिस मास्टर माइंड व उसके सहयोगियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।
अब तक पता चला है कि इस गिरोह का नेटवर्क देश के कई राज्यों में फैला है। पूछताछ में जुटे अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में कई चौंकाने वाले खुलासे होंगे। इसी मामले में सेक्टर-63 में चल रहे एक कॉल सेंटर के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। जनवरी महीने में सेक्टर-62 स्थित आइथम टावर में प्लेसमेंट एजेंसी खोलकर एमबीबीएस में दाखिले के नाम पर ठगी का खुलासा हुआ था। इस मामले में कोतवाली सेक्टर-58 में आरोपी पंकज खटिक, आदर्श और सचिन के खिलाफ चार मुकदमे दर्ज हैं। अब पता चला है कि इन आरोपियों से ऊपर एक मास्टर माइंड है जिसके निर्देशन में ठगी की जाती थी। मास्टर माइंड ही पूरे गिरोह को संचालित करता था। इस मामले के आरोपी पंकज खटिक ने महोबा और आदर्श ने कानपुर कोर्ट में समर्पण किया था। नोएडा पुलिस दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।
आरोपियों को प्रयागराज ले गई पुलिस
पुलिस रविवार को दोनों आरोपियों को लेकर प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज गई। वहां कई लोगों से पूछताछ की गई। आरोपियों ने स्वीकार किया कि जिन पीड़ितों से दाखिले के नाम पर पैसे लिए गए थे उन्हें इसी कॉलेज में लाकर अधिकारियों से मुलाकात कराई गई थी। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि जिन लोगों से मिलवाया गया वे मेडिकल कॉलेज के अधिकारी ही थे या किसी को फर्जी अधिकारी बनाकर मुलाकात कराई गई।

नोएडा। सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी के मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों से पूछताछ में कई जानकारियां सामने आ रही हैं। रिमांड के दौरान पूछताछ में पता चला है कि गिरफ्तार पंकज खटिक व आदर्श केवल मोहरे हैं। इस गिरोह का असली मास्टर माइंड कोई और है। पुलिस मास्टर माइंड व उसके सहयोगियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

अब तक पता चला है कि इस गिरोह का नेटवर्क देश के कई राज्यों में फैला है। पूछताछ में जुटे अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में कई चौंकाने वाले खुलासे होंगे। इसी मामले में सेक्टर-63 में चल रहे एक कॉल सेंटर के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। जनवरी महीने में सेक्टर-62 स्थित आइथम टावर में प्लेसमेंट एजेंसी खोलकर एमबीबीएस में दाखिले के नाम पर ठगी का खुलासा हुआ था। इस मामले में कोतवाली सेक्टर-58 में आरोपी पंकज खटिक, आदर्श और सचिन के खिलाफ चार मुकदमे दर्ज हैं। अब पता चला है कि इन आरोपियों से ऊपर एक मास्टर माइंड है जिसके निर्देशन में ठगी की जाती थी। मास्टर माइंड ही पूरे गिरोह को संचालित करता था। इस मामले के आरोपी पंकज खटिक ने महोबा और आदर्श ने कानपुर कोर्ट में समर्पण किया था। नोएडा पुलिस दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

आरोपियों को प्रयागराज ले गई पुलिस

पुलिस रविवार को दोनों आरोपियों को लेकर प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज गई। वहां कई लोगों से पूछताछ की गई। आरोपियों ने स्वीकार किया कि जिन पीड़ितों से दाखिले के नाम पर पैसे लिए गए थे उन्हें इसी कॉलेज में लाकर अधिकारियों से मुलाकात कराई गई थी। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि जिन लोगों से मिलवाया गया वे मेडिकल कॉलेज के अधिकारी ही थे या किसी को फर्जी अधिकारी बनाकर मुलाकात कराई गई।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment