Register Complaint Against Fraud On My Crop My Details – ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर फर्जीवाड़े की शिकायतें – NOFAA

Register Complaint Against Fraud On My Crop My Details – ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर फर्जीवाड़े की शिकायतें

[ad_1]

ख़बर सुनें

नूंह। जिले में ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकरण में फर्जीवाड़े की शिकायतें थम नहीं रही हैं। पात्र किसानों की जमीनों के आधार पर दूसरे लोग पंजीकरण करा रहे हैं। अब तक जिले में आधा दर्जन किसानों ने कृषि विभाग के अधिकारियों से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।
कृषि विभाग के अधिकारियों ने नगीना थाने में शिकायत देकर बीती 20 फरवरी को मुकदमा भी दर्ज कराया है। इसके बाद पुन्हाना के सिंगार, तावडू के ऊंटोन गांव से भी किसानों ने शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की। हाल ही में नूंह के दिहाना गांव में भी इस तरह की शिकायत सामने आई है। नूंह कृषि विभाग के एसडीओ डॉ. अजीत सिंह ने इस फर्जीवाड़े से निपटने के लिए सदर थाना प्रभारी सतीश कुमार को शिकायत देकर उचित कार्रवाई की मांग की है।
डॉ. अजीत सिंह ने बताया कि देवला नंगली गांव में करीब 250 एकड़ जमीन पर गलत तरीके से पंजीकरण कराया गया। विभाग ने त्वरित कार्रवाई कर इसे रद्द करा दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों की जमीनों पर फर्जीवाड़ा नहीं होने दिया जाएगा। इन सभी रजिस्ट्रेशन के बारे राजस्व विभाग से सहयोग से यह कार्रवाई की गई है। उन्होंने किसानों से फर्जीवाड़े की जानकारी देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जिन किसानों की जमीन पर फर्जी पंजीकरण कराया गया है, उसे दुरुस्त करा दिया गया है। प्रदेश सरकार किसानों की फसल उचित दाम पर खरीदने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण करा रही है। कुछ लोग किसानों की बिना जानकारी के उनकी जमीन के नाम पर अपना पंजीकरण करा रहे हैं। जिले में यह खेल आढ़तियों की साठगांठ से पनप रहा है। इस मामले में पुन्हाना में कई आढ़तियों के नाम पहले सामने आ चुके हैं।
फोटो

नूंह। जिले में ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकरण में फर्जीवाड़े की शिकायतें थम नहीं रही हैं। पात्र किसानों की जमीनों के आधार पर दूसरे लोग पंजीकरण करा रहे हैं। अब तक जिले में आधा दर्जन किसानों ने कृषि विभाग के अधिकारियों से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

कृषि विभाग के अधिकारियों ने नगीना थाने में शिकायत देकर बीती 20 फरवरी को मुकदमा भी दर्ज कराया है। इसके बाद पुन्हाना के सिंगार, तावडू के ऊंटोन गांव से भी किसानों ने शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की। हाल ही में नूंह के दिहाना गांव में भी इस तरह की शिकायत सामने आई है। नूंह कृषि विभाग के एसडीओ डॉ. अजीत सिंह ने इस फर्जीवाड़े से निपटने के लिए सदर थाना प्रभारी सतीश कुमार को शिकायत देकर उचित कार्रवाई की मांग की है।

डॉ. अजीत सिंह ने बताया कि देवला नंगली गांव में करीब 250 एकड़ जमीन पर गलत तरीके से पंजीकरण कराया गया। विभाग ने त्वरित कार्रवाई कर इसे रद्द करा दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों की जमीनों पर फर्जीवाड़ा नहीं होने दिया जाएगा। इन सभी रजिस्ट्रेशन के बारे राजस्व विभाग से सहयोग से यह कार्रवाई की गई है। उन्होंने किसानों से फर्जीवाड़े की जानकारी देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जिन किसानों की जमीन पर फर्जी पंजीकरण कराया गया है, उसे दुरुस्त करा दिया गया है। प्रदेश सरकार किसानों की फसल उचित दाम पर खरीदने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण करा रही है। कुछ लोग किसानों की बिना जानकारी के उनकी जमीन के नाम पर अपना पंजीकरण करा रहे हैं। जिले में यह खेल आढ़तियों की साठगांठ से पनप रहा है। इस मामले में पुन्हाना में कई आढ़तियों के नाम पहले सामने आ चुके हैं।

फोटो

[ad_2]
Source link

Leave a Comment