Corona Has Not Reached More Than 100 Villages – 100 से अधिक गांव में नहीं पहुंचा है कोरोना – NOFAA

Corona Has Not Reached More Than 100 Villages – 100 से अधिक गांव में नहीं पहुंचा है कोरोना

[ad_1]

ख़बर सुनें

ग्रेटर नोएडा (नवीन कुमार)। शहर के बाद महामारी गांवों में तेजी से फैल रही है, लेकिन जिले के 100 से अधिक गांवों तक कोरोना नहीं पहुंचा है। जिला प्रशासन के सर्वे में इसका खुलासा हुआ है। प्रशासन ने बाकी गांवों को भी कोरोना मुक्त बनाने का प्रयास तेज कर दिया है। सभी निगरानी समितियों को सक्रिय किया गया है। कोरोना मुक्त होने पर समितियों को सम्मानित भी किया जाएगा।
कोरोना की दूसरी लहर गांवों तक पहुंच गई है। इलाज के अभाव में बड़ी संख्या में ग्रामीण संक्रमित हो गए हैं। कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। लगातार गांवों से आ रही मौत की सूचना पर जिला प्रशासन ने वहां का रुख किया है और कोविड जांच कराने के साथ-साथ स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार करना शुरू किया। जिला प्रशासन की टीम गांव-गांव जाकर कोविड मरीजों का पता लगा रही है। अफसरों ने बताया कि जिले में 399 गांव हैं। इनमें से 100 से अधिक गांव ऐसे हैं, जहां पर कोरोना नहीं पहुंचा है। इन गांवों तक संक्रमण नहीं पहुंचे, इसका प्रयास किया जा रहा है। साथ ही बाकी गांवों को भी कोरोना मुक्त करने पर कार्रवाई चल रही है। इसकी जिम्मेदारी निगरानी समितियों को दी गई है। कोरोना मुक्त होने पर उन गांवों और वार्ड की समितियों को सम्मानित किया जाएगा।
लक्षण के आधार पर शुरू होगा इलाज
अफसरों ने बताया कि निगरानी समिति सर्विलांस करेंगी। अगर किसी में लक्षण दिखेगा तो उसे तत्काल मेडिकल किट देकर इलाज शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही उनकी जांच और अन्य कार्रवाई की जाएगी। समय पर इलाज मिलने से कोरोना जानलेवा साबित नहीं होगा। निगरानी समितियां सैनिटाइजेशन भी कराएंगी। साथ ही बरसात के मौसम की बीमारियों को भी ध्यान रखकर स्वास्थ्य केंद्रों को भी शुरू करने की तैयारी चल रही है।
जन सुविधा केंद्रों को दिया जाएगा लक्ष्य
सरकार ने जन सुविधा केंद्रों पर वैक्सीन का पंजीकरण कराने की सुविधा दी है। इस संबंध में प्रशासन भी आदेश जारी कर चुका है। अब प्रशासन सभी जन सुविधा केंद्रों को वैक्सीन का स्लॉट बुक करने का लक्ष्य देगा, ताकि ग्रामीणों को भी टीका लग सके। हर रविवार सुबह 10 बजे स्लॉट बुकिंग शुरू होती है। प्रशासन ने ग्रामीणों से अनुरोध किया है कि अगर किसी को जरा सी भी दिक्कत या लक्षण दिखता है तो उसकी सूचना तत्काल कंट्रोल रूम या निगरानी समिति को दें। वहीं, होम आइसोलेट हैं तो भी कंट्रोल रूम पर फोन कर परामर्श ले सकते हैं। वहां एक टीम तैनात है।
100 से अधिक गांवों में कोरोना नहीं पहुंचा है। बाकी गांवों को भी कोरोना मुक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है। कोरोना मुक्त होने पर गांव की निगरानी समिति को सम्मानित किया जाएगा।
– वंदिता श्रीवास्तव, एडीएम (वित्त एवं प्रशासन)

ग्रेटर नोएडा (नवीन कुमार)। शहर के बाद महामारी गांवों में तेजी से फैल रही है, लेकिन जिले के 100 से अधिक गांवों तक कोरोना नहीं पहुंचा है। जिला प्रशासन के सर्वे में इसका खुलासा हुआ है। प्रशासन ने बाकी गांवों को भी कोरोना मुक्त बनाने का प्रयास तेज कर दिया है। सभी निगरानी समितियों को सक्रिय किया गया है। कोरोना मुक्त होने पर समितियों को सम्मानित भी किया जाएगा।

कोरोना की दूसरी लहर गांवों तक पहुंच गई है। इलाज के अभाव में बड़ी संख्या में ग्रामीण संक्रमित हो गए हैं। कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। लगातार गांवों से आ रही मौत की सूचना पर जिला प्रशासन ने वहां का रुख किया है और कोविड जांच कराने के साथ-साथ स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार करना शुरू किया। जिला प्रशासन की टीम गांव-गांव जाकर कोविड मरीजों का पता लगा रही है। अफसरों ने बताया कि जिले में 399 गांव हैं। इनमें से 100 से अधिक गांव ऐसे हैं, जहां पर कोरोना नहीं पहुंचा है। इन गांवों तक संक्रमण नहीं पहुंचे, इसका प्रयास किया जा रहा है। साथ ही बाकी गांवों को भी कोरोना मुक्त करने पर कार्रवाई चल रही है। इसकी जिम्मेदारी निगरानी समितियों को दी गई है। कोरोना मुक्त होने पर उन गांवों और वार्ड की समितियों को सम्मानित किया जाएगा।

लक्षण के आधार पर शुरू होगा इलाज

अफसरों ने बताया कि निगरानी समिति सर्विलांस करेंगी। अगर किसी में लक्षण दिखेगा तो उसे तत्काल मेडिकल किट देकर इलाज शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही उनकी जांच और अन्य कार्रवाई की जाएगी। समय पर इलाज मिलने से कोरोना जानलेवा साबित नहीं होगा। निगरानी समितियां सैनिटाइजेशन भी कराएंगी। साथ ही बरसात के मौसम की बीमारियों को भी ध्यान रखकर स्वास्थ्य केंद्रों को भी शुरू करने की तैयारी चल रही है।

जन सुविधा केंद्रों को दिया जाएगा लक्ष्य

सरकार ने जन सुविधा केंद्रों पर वैक्सीन का पंजीकरण कराने की सुविधा दी है। इस संबंध में प्रशासन भी आदेश जारी कर चुका है। अब प्रशासन सभी जन सुविधा केंद्रों को वैक्सीन का स्लॉट बुक करने का लक्ष्य देगा, ताकि ग्रामीणों को भी टीका लग सके। हर रविवार सुबह 10 बजे स्लॉट बुकिंग शुरू होती है। प्रशासन ने ग्रामीणों से अनुरोध किया है कि अगर किसी को जरा सी भी दिक्कत या लक्षण दिखता है तो उसकी सूचना तत्काल कंट्रोल रूम या निगरानी समिति को दें। वहीं, होम आइसोलेट हैं तो भी कंट्रोल रूम पर फोन कर परामर्श ले सकते हैं। वहां एक टीम तैनात है।

100 से अधिक गांवों में कोरोना नहीं पहुंचा है। बाकी गांवों को भी कोरोना मुक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है। कोरोना मुक्त होने पर गांव की निगरानी समिति को सम्मानित किया जाएगा।

– वंदिता श्रीवास्तव, एडीएम (वित्त एवं प्रशासन)

[ad_2]
Source link

Leave a Comment