Delhi-howrah Rail Route Will Be Connected With The – ईस्टर्न कॉरिडोर से जुड़ेगा दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग, 21 दिन रहेगी दिक्कत – NOFAA

Delhi-howrah Rail Route Will Be Connected With The – ईस्टर्न कॉरिडोर से जुड़ेगा दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग, 21 दिन रहेगी दिक्कत

[ad_1]

ख़बर सुनें

ईस्टर्न कॉरिडोर से जुड़ेगा दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग, 21 दिन रहेगी दिक्कत
ग्रेटर नोएडा (नवीन कुमार)। डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन (डीएफसीसी) के ईस्टर्न कॉरिडोर को दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग से जोड़ने का काम जल्द शुरू होगा। इस कार्य के दौरान दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर रेल यातायात प्रभावित रहेगा। डीएफसीसी की तरफ से इसका प्रस्ताव भारतीय रेलवे को भेजा गया है। इसके तहत दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर बीस दिन तक करीब 3 घंटे और एक दिन आठ घंटे तक ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से बंद रहेगा।
डीएफसीसी के ईस्टर्न कॉरिडोर का निर्माण खुर्जा से ग्रेटर नोएडा के बोड़ाकी तक लगभग पूरा हो चुका है। बोड़ाकी में ईस्टर्न कॉरिडोर की छह रेल लाइनें हैं। इनमें से दो लाइनें वेस्टर्न कॉरिडोर में मिलेंगी, जबकि तीन लाइनें दादरी स्टेशन के पास दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग से जुड़ेंगी। बोड़ाकी से दादरी यार्ड के बीच की दूरी करीब 4.5 किमी है। दादरी यार्ड तक तीनों लाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है। अब डीएफसीसी रेलवे के दिल्ली-हावड़ा मार्ग से इसे जोड़ने का काम करेगा। इस संबंध में रविवार को रेलवे के एडीआरएम प्रयागराज अतुल कुमार गुप्ता ने ईस्टर्न कॉरिडोर और दादरी यार्ड का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने डीएफसीसी के अधिकारियों के साथ ईस्टर्न कॉरिडोर व दिल्ली-हावड़ा मार्ग को जोड़ने की कार्ययोजना तैयार की। कॉरिडोर को जोड़ने के दौरान दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर रेल यातायात बंद रहेगा। डीएफसीसी की तरफ से इसका प्रस्ताव भारतीय रेलवे को भेजा गया है।
बीस दिन ब्लॉक और एक दिन होगा मेगा ब्लॉक
डीएफसीसी ने रेलवे से 20 दिन का ब्लॉक और एक दिन का मेगा ब्लॉक मांगा है। डीएफसीसी के अफसरों ने बताया कि 20 दिन के ब्लॉक में रोजाना 2.5 से तीन घंटे तक ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से बंद रहेगा, जबकि मेगा ब्लॉक के समय आठ घंटे तक दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग पूरी तरह से बंद रहेगा।
खत्म हो जाएगी यात्री ट्रेनों के देर से आने की समस्या
ईस्टर्न कॉरिडोर से जुड़ने के बाद दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर मालगाड़ियों का संचालन बंद हो जाएगा। मालगाड़ियां ईस्टर्न कॉरिडोर पर आ जाएंगी। ईस्टर्न कॉरिडोर से मालगाड़ियां फिलहाल बिहार तक जा सकेंगी। ईस्टर्न व वेस्टर्न कॉरिडोर पूरी तरह से शुरू होने के बाद मुंबई से कोलकाता तक का सफर आसान हो जाएगा।

ईस्टर्न कॉरिडोर से जुड़ेगा दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग, 21 दिन रहेगी दिक्कत

ग्रेटर नोएडा (नवीन कुमार)। डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन (डीएफसीसी) के ईस्टर्न कॉरिडोर को दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग से जोड़ने का काम जल्द शुरू होगा। इस कार्य के दौरान दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर रेल यातायात प्रभावित रहेगा। डीएफसीसी की तरफ से इसका प्रस्ताव भारतीय रेलवे को भेजा गया है। इसके तहत दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर बीस दिन तक करीब 3 घंटे और एक दिन आठ घंटे तक ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से बंद रहेगा।

डीएफसीसी के ईस्टर्न कॉरिडोर का निर्माण खुर्जा से ग्रेटर नोएडा के बोड़ाकी तक लगभग पूरा हो चुका है। बोड़ाकी में ईस्टर्न कॉरिडोर की छह रेल लाइनें हैं। इनमें से दो लाइनें वेस्टर्न कॉरिडोर में मिलेंगी, जबकि तीन लाइनें दादरी स्टेशन के पास दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग से जुड़ेंगी। बोड़ाकी से दादरी यार्ड के बीच की दूरी करीब 4.5 किमी है। दादरी यार्ड तक तीनों लाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है। अब डीएफसीसी रेलवे के दिल्ली-हावड़ा मार्ग से इसे जोड़ने का काम करेगा। इस संबंध में रविवार को रेलवे के एडीआरएम प्रयागराज अतुल कुमार गुप्ता ने ईस्टर्न कॉरिडोर और दादरी यार्ड का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने डीएफसीसी के अधिकारियों के साथ ईस्टर्न कॉरिडोर व दिल्ली-हावड़ा मार्ग को जोड़ने की कार्ययोजना तैयार की। कॉरिडोर को जोड़ने के दौरान दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर रेल यातायात बंद रहेगा। डीएफसीसी की तरफ से इसका प्रस्ताव भारतीय रेलवे को भेजा गया है।

बीस दिन ब्लॉक और एक दिन होगा मेगा ब्लॉक

डीएफसीसी ने रेलवे से 20 दिन का ब्लॉक और एक दिन का मेगा ब्लॉक मांगा है। डीएफसीसी के अफसरों ने बताया कि 20 दिन के ब्लॉक में रोजाना 2.5 से तीन घंटे तक ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से बंद रहेगा, जबकि मेगा ब्लॉक के समय आठ घंटे तक दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग पूरी तरह से बंद रहेगा।

खत्म हो जाएगी यात्री ट्रेनों के देर से आने की समस्या

ईस्टर्न कॉरिडोर से जुड़ने के बाद दिल्ली-हावड़ा मार्ग पर मालगाड़ियों का संचालन बंद हो जाएगा। मालगाड़ियां ईस्टर्न कॉरिडोर पर आ जाएंगी। ईस्टर्न कॉरिडोर से मालगाड़ियां फिलहाल बिहार तक जा सकेंगी। ईस्टर्न व वेस्टर्न कॉरिडोर पूरी तरह से शुरू होने के बाद मुंबई से कोलकाता तक का सफर आसान हो जाएगा।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment