Sundar Bhati Gang Shooter Ravi Arrested With Bullet Proof Scorpio – बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो के साथ सुंदर भाटी गिरोह का शूटर रवि गिरफ्तार – NOFAA

Sundar Bhati Gang Shooter Ravi Arrested With Bullet Proof Scorpio – बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो के साथ सुंदर भाटी गिरोह का शूटर रवि गिरफ्तार

[ad_1]

ख़बर सुनें

ग्रेटर नोएडा। स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने सुंदर भाटी गिरोह के शूटर और 25 हजार के इनामी बदमाश रवि भाटी उर्फ रविंद्र को बुलेट प्रूफ स्कार्पियो के साथ पी-3 गोलचक्कर के पास से गिरफ्तार किया है। उसके पास से तमंचा बरामद किया है। रवि गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में फरार चल रहा था। पुलिस की टीमें छह महीने से उसकी तलाश कर रही थीं। एसटीएफ के एडिशनल एसपी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि सुंदर भाटी गिरोह के कुछ बदमाशों ने एक फैक्ट्री में जाकर रंगदारी मांगी थी। पीड़ित ने बीटा-2 थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। घटना के बाद से आरोपी रवि फरार चल रहा था।
मामले में उसके कई साथी पूर्व में पकड़े जा चुके हैं। वहीं, गिरोह का बदमाश सिंगराज वर्तमान में गोरखपुर जेल में है। हरेंद्र प्रधान हत्याकांड में सिंगराज को आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद से रवि गिरोह का संचालन कर रहा था। एएसपी बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर नॉलेज पार्क थाना पुलिस के साथ संयुक्त अभियान में सुंदर भाटी गिरोह के बदमाश व सिंगराज के भतीजे रवि भाटी को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2009 में पानी के विवाद में रवि पक्ष ने हरेंद्र प्रधान पक्ष पर हमला किया था। इसमें कई लोग घायल हुए थे। मामले में रवि पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की गई थी। इसके अलावा उस पर 10 मुकदमे दर्ज हैं।
कहां से मिली बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो
गृह विभाग की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति गाड़ी को बुलेट प्रूफ नहीं करवा सकता है। ऐसे में सवाल उठता है कि सुंदर भाटी गिरोह के बदमाश रवि के पास बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो कैसे पहुंची। एडिशनल एसपी ने बताया कि यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि रवि के पास बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो कहां से आई। पुलिस के अनुसार स्कॉर्पियो पर अवैध रूप से बुलेट प्रूफ चढ़ाई गई है।

ग्रेटर नोएडा। स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने सुंदर भाटी गिरोह के शूटर और 25 हजार के इनामी बदमाश रवि भाटी उर्फ रविंद्र को बुलेट प्रूफ स्कार्पियो के साथ पी-3 गोलचक्कर के पास से गिरफ्तार किया है। उसके पास से तमंचा बरामद किया है। रवि गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में फरार चल रहा था। पुलिस की टीमें छह महीने से उसकी तलाश कर रही थीं। एसटीएफ के एडिशनल एसपी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि सुंदर भाटी गिरोह के कुछ बदमाशों ने एक फैक्ट्री में जाकर रंगदारी मांगी थी। पीड़ित ने बीटा-2 थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। घटना के बाद से आरोपी रवि फरार चल रहा था।

मामले में उसके कई साथी पूर्व में पकड़े जा चुके हैं। वहीं, गिरोह का बदमाश सिंगराज वर्तमान में गोरखपुर जेल में है। हरेंद्र प्रधान हत्याकांड में सिंगराज को आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद से रवि गिरोह का संचालन कर रहा था। एएसपी बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर नॉलेज पार्क थाना पुलिस के साथ संयुक्त अभियान में सुंदर भाटी गिरोह के बदमाश व सिंगराज के भतीजे रवि भाटी को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2009 में पानी के विवाद में रवि पक्ष ने हरेंद्र प्रधान पक्ष पर हमला किया था। इसमें कई लोग घायल हुए थे। मामले में रवि पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की गई थी। इसके अलावा उस पर 10 मुकदमे दर्ज हैं।

कहां से मिली बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो

गृह विभाग की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति गाड़ी को बुलेट प्रूफ नहीं करवा सकता है। ऐसे में सवाल उठता है कि सुंदर भाटी गिरोह के बदमाश रवि के पास बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो कैसे पहुंची। एडिशनल एसपी ने बताया कि यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि रवि के पास बुलेट प्रूफ स्कॉर्पियो कहां से आई। पुलिस के अनुसार स्कॉर्पियो पर अवैध रूप से बुलेट प्रूफ चढ़ाई गई है।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment