Twin Towers: Window-doors Will Have To Be Closed On The Day Of Mini Blast – ट्विन टावर : मिनी ब्लास्ट के दिन बंद रखने होंगे खिड़की-दरवाजे – NOFAA

Twin Towers: Window-doors Will Have To Be Closed On The Day Of Mini Blast – ट्विन टावर : मिनी ब्लास्ट के दिन बंद रखने होंगे खिड़की-दरवाजे

[ad_1]

ख़बर सुनें

नोएडा। ट्विन टावर के पांच पिलर को ट्रायल के तौर पर 10 अप्रैल को मिनी ब्लास्ट से ढहा जाएगा। ऐसे में आसपास की सोसाइटियों के निवासियों को खिड़की-दरवाजे बंद रखने होंगे। साथ ही, आसपास खुले में जाने की अनुमति भी नहीं होगी।
सूत्रों के मुताबिक, प्राधिकरण और एडिफिस इंजीनियरिंग की ओर से जल्द ही एमरॉल्ड कोर्ट, एटीएस विलेज सोसाइटी के निवासियों को जरूरी निर्देश जारी किए जाएंगे। कुछ अन्य निर्देशों के बारे में भी मंथन किया जा रहा है, ताकि किसी तरह की अनहोनी न हो। मिनी ब्लास्ट से यह पता लगेगा कि दोनों टावरों को गिराने में कितने विस्फोटक की जरूरत होगी। फिलहाल, 10 किलो विस्फोटक को पांच पिलर में लगाकर ब्लास्ट किया जाएगा। ब्लास्ट करने से पहले आसपास इस तरह की व्यवस्था होगी कि किसी तरह का मलबा बाहर न निकले। इसमें तारों का जाल, शीट आदि का इस्तेमाल होगा।
शौचालय में लगेंगी फीडबैक मशीन
शहर के सार्वजनिक शौचालयों में साफ-सफाई की जानकारी लेने के लिए प्राधिकरण फीडबैक मशीन लगाएगा। इससे शौचालय का उपयोग करने वालों से फीडबैक लिया जाएगा। इस तरह की व्यवस्था शहर के सभी शौचालयों में होगी। इसे कंट्रोल रूम से ऑनलाइन माध्यम से जोड़ा जाएगा। इसमें किसी तरह की शिकायतें आती हैं तो इसका तुरंत निस्तारण करने का प्रयास किया जाएगा। इस समय शहर में 213 सार्वजनिक शौचालय हैं।

नोएडा। ट्विन टावर के पांच पिलर को ट्रायल के तौर पर 10 अप्रैल को मिनी ब्लास्ट से ढहा जाएगा। ऐसे में आसपास की सोसाइटियों के निवासियों को खिड़की-दरवाजे बंद रखने होंगे। साथ ही, आसपास खुले में जाने की अनुमति भी नहीं होगी।

सूत्रों के मुताबिक, प्राधिकरण और एडिफिस इंजीनियरिंग की ओर से जल्द ही एमरॉल्ड कोर्ट, एटीएस विलेज सोसाइटी के निवासियों को जरूरी निर्देश जारी किए जाएंगे। कुछ अन्य निर्देशों के बारे में भी मंथन किया जा रहा है, ताकि किसी तरह की अनहोनी न हो। मिनी ब्लास्ट से यह पता लगेगा कि दोनों टावरों को गिराने में कितने विस्फोटक की जरूरत होगी। फिलहाल, 10 किलो विस्फोटक को पांच पिलर में लगाकर ब्लास्ट किया जाएगा। ब्लास्ट करने से पहले आसपास इस तरह की व्यवस्था होगी कि किसी तरह का मलबा बाहर न निकले। इसमें तारों का जाल, शीट आदि का इस्तेमाल होगा।

शौचालय में लगेंगी फीडबैक मशीन

शहर के सार्वजनिक शौचालयों में साफ-सफाई की जानकारी लेने के लिए प्राधिकरण फीडबैक मशीन लगाएगा। इससे शौचालय का उपयोग करने वालों से फीडबैक लिया जाएगा। इस तरह की व्यवस्था शहर के सभी शौचालयों में होगी। इसे कंट्रोल रूम से ऑनलाइन माध्यम से जोड़ा जाएगा। इसमें किसी तरह की शिकायतें आती हैं तो इसका तुरंत निस्तारण करने का प्रयास किया जाएगा। इस समय शहर में 213 सार्वजनिक शौचालय हैं।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment