Fraud From People By Pretending To Plot And Interest – पहले ब्याज और फिर प्लाट का झांसा देकर कई लोगों से ठगी – NOFAA

Fraud From People By Pretending To Plot And Interest – पहले ब्याज और फिर प्लाट का झांसा देकर कई लोगों से ठगी

[ad_1]

डीसीपी कार्यालय में शिकायत लेकर पहुंचे पीड़ित।
– फोटो : Grnoida

ख़बर सुनें

ग्रेटर नोएडा। दादरी में रेलवे रोड पर दफ्तर खोलकर कई लोगों से ठगी का मामला सामने आया है। आरोपियों ने मोटी ब्याज का झांसा देकर महिलाओं और पुरुषों से कई साल तक किश्त वसूली। फिर जमा रकम के बदले प्लॉट देने का आश्वासन दिया। अब रुपये मांगने पर झूठे केस में फंसाने की धमकी दी जा रही है। पीड़ितों ने डीसीपी दफ्तर पहुंचकर एडीसीपी ग्रेटर नोएडा जोन विशाल पांडे से शिकायत की है। एडीसीपी ने दादरी कोतवाली प्रभारी को मामले की जांच के निर्देश दिए हैं।
दादरी निवासी सुनील, सीमा, ओमवती और शिवानी समेत करीब बीस से अधिक पीड़ितों का कहना है कि वर्ष 2013 में पांच लोगों ने मिलकर एक कंपनी बनाई थी। रेलवे रोड पर आरोपियों ने दफ्तर खोला था। उन्होंने किश्त के रूप में तीन साल तक रुपये जमा करने पर मोटी ब्याज के साथ रकम वापस करने की बात कही थी। तीन साल पूरे होने पर आरोपी प्लॉट देने का झांसा देने लगे। आरोपियों ने निवेशकों को एक साइट भी दिखाई जहां पर प्लाटिंग की जा रही थी। पीड़ितों का कहना है कि आरोपियों ने उनके पैसों से ही प्लाटिंग की है। अब उन्हें न तो प्लॉट दिए जा रहे हैं न ही रकम लौटाई जा रही है। एक महिला व अन्य आरोपी उन्हें झूठे केस में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। पीड़ितों का कहना है कि सौ से अधिक लोगों से करोड़ों रुपये की ठगी की गई है।

ग्रेटर नोएडा। दादरी में रेलवे रोड पर दफ्तर खोलकर कई लोगों से ठगी का मामला सामने आया है। आरोपियों ने मोटी ब्याज का झांसा देकर महिलाओं और पुरुषों से कई साल तक किश्त वसूली। फिर जमा रकम के बदले प्लॉट देने का आश्वासन दिया। अब रुपये मांगने पर झूठे केस में फंसाने की धमकी दी जा रही है। पीड़ितों ने डीसीपी दफ्तर पहुंचकर एडीसीपी ग्रेटर नोएडा जोन विशाल पांडे से शिकायत की है। एडीसीपी ने दादरी कोतवाली प्रभारी को मामले की जांच के निर्देश दिए हैं।

दादरी निवासी सुनील, सीमा, ओमवती और शिवानी समेत करीब बीस से अधिक पीड़ितों का कहना है कि वर्ष 2013 में पांच लोगों ने मिलकर एक कंपनी बनाई थी। रेलवे रोड पर आरोपियों ने दफ्तर खोला था। उन्होंने किश्त के रूप में तीन साल तक रुपये जमा करने पर मोटी ब्याज के साथ रकम वापस करने की बात कही थी। तीन साल पूरे होने पर आरोपी प्लॉट देने का झांसा देने लगे। आरोपियों ने निवेशकों को एक साइट भी दिखाई जहां पर प्लाटिंग की जा रही थी। पीड़ितों का कहना है कि आरोपियों ने उनके पैसों से ही प्लाटिंग की है। अब उन्हें न तो प्लॉट दिए जा रहे हैं न ही रकम लौटाई जा रही है। एक महिला व अन्य आरोपी उन्हें झूठे केस में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। पीड़ितों का कहना है कि सौ से अधिक लोगों से करोड़ों रुपये की ठगी की गई है।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment