Jewar Bangar Will Develop Like Model Township – मॉडल टाउनशिप की तरह विकसित होगा जेवर बांगर – NOFAA

Jewar Bangar Will Develop Like Model Township – मॉडल टाउनशिप की तरह विकसित होगा जेवर बांगर

मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह जेवर बांगर में बसाई जा रही टाउनशिप को लेकर विभागीय अधिकारियों के साथ ब?
– फोटो : Grnoida

ख़बर सुनें

जेवर। नोएडा एयरपोर्ट की परिधि में आने वाले किसान परिवारों को जेवर बांगर में बसाया जा रहा है। रविवार को मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह ने जेवर बांगर को मॉडल टाउनशिप के रूप में विकसित कराने के लिए दौरा किया। इसके बाद बैठक में अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए।
दोपहर बाद मंडलायुक्त ने जेवर बांगर की 48 हेक्टेयर जमीन पर बसाई जा रही टाउनशिप का दौरा किया। उन्होंने यहां पर बनाए जा रहे सरकारी स्कूल को मॉर्डन स्कूल की तरह विकसित करने के साथ नर्सरी से 12वीं तक बनाने पर जोर दिया। इस क्षेत्र से निकलने वाले पानी के लिए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाकर उसे शुद्ध करने और उसे पार्क तक ले जाने की व्यवस्था पर जोर दिया।
उन्होंने बरसात के पानी को बर्बाद नहीं किए जाने के लिए योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। टाउनशिप में बिजली के अलावा सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने को कहा है। पार्कों के अलावा सड़क किनारे फूल वाले पौधे लगाने और सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। करीब डेढ़ घंटे तक टाउनशिप के अंदर हुई बैठक में सभी विषयों की जानकारी ली। किसानों के विस्थापन पर जोर देते हुए टाउनशिप का दौरा किया। मौके पर अपर जिलाधिकारी बलराम सिंह, यीडा के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया, उपजिलाधिकारी जेवर रजनीकांत मिश्र, तहसीलदार जेवर विनय भदौरिया सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
25 को 692 परिवारों के मिलेंगे प्लॉट
नंगला छीतर गांव के 692 परिवारों के लिए जेवर बांगर में विस्थापित कराने के लिए 25 मार्च को जेवर तहसील में ड्रॉ का आयोजन किया जाएगा। इसमें प्रत्येक परिवार को ड्रॉ के माध्यम से प्लॉट आवंटित किए जाएंगे। आवंटन के बाद मौके पर मौजूद किसानों को पत्र सौंप जाएंगे। इसके बाद ही इन किसानों को टाउनशिप में मकान बनाने का अधिकार मिल जाएगा।

जेवर। नोएडा एयरपोर्ट की परिधि में आने वाले किसान परिवारों को जेवर बांगर में बसाया जा रहा है। रविवार को मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह ने जेवर बांगर को मॉडल टाउनशिप के रूप में विकसित कराने के लिए दौरा किया। इसके बाद बैठक में अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए।

दोपहर बाद मंडलायुक्त ने जेवर बांगर की 48 हेक्टेयर जमीन पर बसाई जा रही टाउनशिप का दौरा किया। उन्होंने यहां पर बनाए जा रहे सरकारी स्कूल को मॉर्डन स्कूल की तरह विकसित करने के साथ नर्सरी से 12वीं तक बनाने पर जोर दिया। इस क्षेत्र से निकलने वाले पानी के लिए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाकर उसे शुद्ध करने और उसे पार्क तक ले जाने की व्यवस्था पर जोर दिया।

उन्होंने बरसात के पानी को बर्बाद नहीं किए जाने के लिए योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। टाउनशिप में बिजली के अलावा सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने को कहा है। पार्कों के अलावा सड़क किनारे फूल वाले पौधे लगाने और सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। करीब डेढ़ घंटे तक टाउनशिप के अंदर हुई बैठक में सभी विषयों की जानकारी ली। किसानों के विस्थापन पर जोर देते हुए टाउनशिप का दौरा किया। मौके पर अपर जिलाधिकारी बलराम सिंह, यीडा के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया, उपजिलाधिकारी जेवर रजनीकांत मिश्र, तहसीलदार जेवर विनय भदौरिया सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

25 को 692 परिवारों के मिलेंगे प्लॉट

नंगला छीतर गांव के 692 परिवारों के लिए जेवर बांगर में विस्थापित कराने के लिए 25 मार्च को जेवर तहसील में ड्रॉ का आयोजन किया जाएगा। इसमें प्रत्येक परिवार को ड्रॉ के माध्यम से प्लॉट आवंटित किए जाएंगे। आवंटन के बाद मौके पर मौजूद किसानों को पत्र सौंप जाएंगे। इसके बाद ही इन किसानों को टाउनशिप में मकान बनाने का अधिकार मिल जाएगा।


Source link

Leave a Comment