Five Private Hospitals Approved For Treatment, 700 Beds Increased – पांच निजी अस्पतालों को इलाज की मंजूरी, 700 बेड बढ़े – NOFAA

Five Private Hospitals Approved For Treatment, 700 Beds Increased – पांच निजी अस्पतालों को इलाज की मंजूरी, 700 बेड बढ़े

[ad_1]

ख़बर सुनें

नोएडा। जिले के कोरोना मरीजों के लिए राहत की खबर है। बिस्तरों व वेंटिलेटर की कमी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने जिले के पांच निजी अस्पतालों को कोरोना इलाज के लिए अनुमति दी है। इससे 700 बेड जिले में बढ़ गए हैं। अब कुल संख्या 2458 हो गई है।
स्वास्थ्य विभाग ने पांचों अस्पतालों के प्रबंधन को तत्काल इलाज शुरू करने के आदेश दिए हैं। साथ ही, इलाज के लिए निर्धारित शुल्क ही वसूलने का निर्देश दिया है। अस्पतालों द्वारा अतिरिक्त शुल्क लेने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। जिले में अप्रैल में कोरोना संक्रमण बेहद तेजी से बढ़ा है। संक्रमण प्रसार की दर 0.1 से बढ़कर सात फीसदी हो गई है। ऐसे में संसाधनों की किल्लत शुरू हो गई है। इस कारण जिले में बेड की संख्या बढ़ाई गई है। सीएमओ डॉ. दीपक ओहरी ने बताया कि मरीजों की समस्याओं को देखते हुए बेड बढ़ाए गए हैं।
लगातार आ रही शिकायतें
शनिवार को भी कई मरीज अस्पतालों के चक्कर काटते रहे। सेक्टर-39 कोविड अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचे संजय सिंह ने बताया कि उन्हें सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है। अस्पताल वाले बेड खाली न होने की बात कहकर भर्ती नहीं कर रहे हैं। घंटों इंतजार करना पड़ा पर कुछ नहीं हुआ। जिले के कई अस्पतालों से संपर्क किया, लेकिन कुछ नहीं हुआ। अब हेल्पलाइन नंबरों से मदद मांग रहे हैं।
यह शुरू हुई कोरोना उपचार की सुविधा
अस्पताल बिस्तर
सूर्या 200
जीआर 200
जीएस 100
त्रिपाठी 100
एसआरएस 100
…………
कोविड इलाज वाले अस्पतालों की स्थिति
अस्पताल बेड
शारदा 725
जिम्स 210
निम्स 200
जेपी 150 – बेड फुल
फ ोर्टिस 46 – बेड फुल
यथार्थ 200 – बेड फुल
यथार्थ ग्रेनो- 100
इंडो गल्फ – 40
प्रकाश 100 . बेड फुल
प्रकाश ग्रेनो – 50
जेआर बीटा-1 – 50
सेक्टर-39 कोविड अस्पताल – 360
दावों हकीकत में दिख रहा अंतर
जिले में सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल सहित कई अस्पतालों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा बेड खाली होने की बात कही जा रही है, लेकिन इनमें भर्ती के लिए जाने वाले मरीजों को बेड न होने की बात कहकर लौटा दिया जा रहा है। इसका कारण यहां स्टाफ व संसाधनों की कमी को माना जा रहा है।

नोएडा। जिले के कोरोना मरीजों के लिए राहत की खबर है। बिस्तरों व वेंटिलेटर की कमी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने जिले के पांच निजी अस्पतालों को कोरोना इलाज के लिए अनुमति दी है। इससे 700 बेड जिले में बढ़ गए हैं। अब कुल संख्या 2458 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग ने पांचों अस्पतालों के प्रबंधन को तत्काल इलाज शुरू करने के आदेश दिए हैं। साथ ही, इलाज के लिए निर्धारित शुल्क ही वसूलने का निर्देश दिया है। अस्पतालों द्वारा अतिरिक्त शुल्क लेने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। जिले में अप्रैल में कोरोना संक्रमण बेहद तेजी से बढ़ा है। संक्रमण प्रसार की दर 0.1 से बढ़कर सात फीसदी हो गई है। ऐसे में संसाधनों की किल्लत शुरू हो गई है। इस कारण जिले में बेड की संख्या बढ़ाई गई है। सीएमओ डॉ. दीपक ओहरी ने बताया कि मरीजों की समस्याओं को देखते हुए बेड बढ़ाए गए हैं।

लगातार आ रही शिकायतें

शनिवार को भी कई मरीज अस्पतालों के चक्कर काटते रहे। सेक्टर-39 कोविड अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचे संजय सिंह ने बताया कि उन्हें सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है। अस्पताल वाले बेड खाली न होने की बात कहकर भर्ती नहीं कर रहे हैं। घंटों इंतजार करना पड़ा पर कुछ नहीं हुआ। जिले के कई अस्पतालों से संपर्क किया, लेकिन कुछ नहीं हुआ। अब हेल्पलाइन नंबरों से मदद मांग रहे हैं।

यह शुरू हुई कोरोना उपचार की सुविधा

अस्पताल बिस्तर

सूर्या 200

जीआर 200

जीएस 100

त्रिपाठी 100

एसआरएस 100

…………

कोविड इलाज वाले अस्पतालों की स्थिति

अस्पताल बेड

शारदा 725

जिम्स 210

निम्स 200

जेपी 150 – बेड फुल

फ ोर्टिस 46 – बेड फुल

यथार्थ 200 – बेड फुल

यथार्थ ग्रेनो- 100

इंडो गल्फ – 40

प्रकाश 100 . बेड फुल

प्रकाश ग्रेनो – 50

जेआर बीटा-1 – 50

सेक्टर-39 कोविड अस्पताल – 360

दावों हकीकत में दिख रहा अंतर

जिले में सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल सहित कई अस्पतालों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा बेड खाली होने की बात कही जा रही है, लेकिन इनमें भर्ती के लिए जाने वाले मरीजों को बेड न होने की बात कहकर लौटा दिया जा रहा है। इसका कारण यहां स्टाफ व संसाधनों की कमी को माना जा रहा है।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment