लखनऊ-: चीफ़ सेकेट्री ने कोरोना के सम्बंध में दिशा निर्देश जारी किये- – NOFAA

लखनऊ-: चीफ़ सेकेट्री ने कोरोना के सम्बंध में दिशा निर्देश जारी किये-

लखनऊ: दिनांक: 16 मार्च 2021 विषयः-कोविड-19 संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से उत्तर प्रदेश में आने वाले यात्रियों के कोविड जाँच के सम्बन्ध में ।

उपर्युक्त विषय के सन्दर्भ में मुझे यह कहने का निदेश हुआ है कि वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में कोरोना वायरस के नवीन केस अत्याधिक संख्या में प्रतिदिन संसूचित हो रहे हैं। प्रदेश में कोविड रोग के नवीन मामलों की संख्या काफी कम थी, किन्तु पिछले सप्ताह से सक्रिय केसेज की संख्या में मामूली वृद्धि हुई है। ऐसी स्थिति में कोविड रोग के नए मामलों को रोकने के लिए अधिक संक्रमण वाले प्रदेशों से आने वाले यात्रियों के कोविड संक्रमण हेतु जांच कराया जाना अत्यधिक आवश्यक है ताकि कोरोना वायरस के नवीन संचरण की सम्भावना को न्यूनतम किया जा सके। होली पर्व पर कोविड-19 संकमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से उत्तर प्रदेश में आने वाले यात्रियों की संख्या में वृद्धि होने की सम्भावना है। इस संदर्भ में कृपया निम्नलिखित दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए:

(1) कोविड-19 संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से हवाईमार्ग से आने वाले यात्रियों का प्रदेश के एयरपोर्ट पर एन्टीजन जांच कराई जाए। लक्षणयुक्त होने पर आरoटी0पी0सी0आर० का नमूना लिया जाए।

(2) प्रदेश के समस्त जनपदों में रेलवे स्टेशनों पर कोविड-19 संकमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से वापस आ रहे यात्रियों के आगमन के उपरान्त रेलवे स्टेशन पर ही एंटीजन जांच कराते हुए लक्षणयुक्त व्यक्तियों के नमूने आरoटीoपीoसी0आर० जांच हेतु भी एकत्र कर जिले की सम्बद्ध प्रयोगशाला को प्रेषित किए जाएं।

(3) प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों की विशेष रूप से सघन जांच की जाए तथा लक्षण प्राप्त होने पर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जाए। उक्त के अतिरिक्त रेलवे के सहयोग से सभी यात्रियों की सूची प्राप्त कर सर्विलान्स की कार्यवाही की जाए।

(4) ऐसे रेलवे स्टेशनों पर जहां लम्बी दूरी से तथा अन्य प्रदेशों से आने वाली रेलगाडियां रूकती हो, वहां 24 घण्टे कोविड जांच की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए. जिस हेतु आवश्यक संख्या में जांच दलों को रेलवे स्टेशनों पर तैनात किया जाए।

दस्तक अभियान घर-घर भ्रमण कर रहे फन्ट लाइन वर्कर से प्रतिदिन ऐसे क्षेत्रों के विषय में जानकारी प्राप्त की जाए जहां देश के अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में प्रदेश के प्रवासी नागरिक वापस आए हैं अथवा आई०एल0आई0 केसेज समान्य से

(5) वर्तमान अधिक संख्या में सूचित हो रहे हैं।

(6) ऐसे क्षेत्रों में क्षेत्रीय एoएन०एम०/फन्ट लाइन वर्कर / नगरीय क्षेत्रों में मोहल्ला निगरानी समिति/ ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम निगरानी समितियों का प्रयोग करते हुए कोविड संक्रमण के नियंत्रण हेतु निरन्तर सघन निगरानी करते हुए नियमित रूप से कोविड जांच करायी जाए।

(7) कोविड-19 संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से आने वाले यात्रियों की स्कीनिंग एवं लाइन लिस्टिंग कार्य में मदद हेतु जनपद के पुलिस एवं राजस्व विभाग के कर्मियों की मदद ली जाए।

(8) प्रत्येक जनपद में भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र तथा स्कूल/कालेज आदि में कोविड-19 की जांच किए जाने हेतु क्षेत्रवार जांच कैलेण्डर (प्रति संलग्न) तैयार किया गया है, जो सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को पहले ही उपलब्ध कराया जा चुका है। उक्त कैलेण्डर में वर्णित व्यवस्थानुसार अग्रेतर कार्यवाही प्राथमिकता के आधार पर सुनिश्चित किया जाए।

(9) जिलाधिकारी जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी के साथ प्रत्येक दिन आई0सी0सी0सी0 (ICCC) में कोविड-19 संक्रमण के बचाव, रोकथाम, वैक्सिनेशन आदि की समीक्षा करे तथा कोविड नियंत्रण हेतु आवश्यक कदम उठाए।

Leave a Comment